मेयर के कहने पर आगे आए रोटरी सेंट्रल

कोरोना संकट के दौरान कई सामाजिक संस्थाएं अपने-अपने तरीके से प्रशासन व सरकार की मदद करने के लिए आगे आ रही हैं। रोटरी ऋषिकेश सैंन्ट्रल

कोरोना से ठीक होकर कोरोना से लड़ने कूदे ये मंत्री

निशंक ने ऑक्सीजन प्लांट समेत दूसरे उपकरणों के लिए जारी किए डेढ़ करोड़। देश के शिक्षा मंत्री जब कोरोना से ठीक होकर घर लौटे तो

वरिष्ठ नागरिकों और महिलाओं के लिए नहीं है कोविड केअर में विशेष सुविधा

कोरोना महामारी इस समय चरम पर है लेकिन जिन वरिष्ठ नागरिकों और महिलाओं में संक्रमित होने की संभावनाएं  दिख रही है, उनके लिए इन कोविd

पहले दवाएं बनती थी, अब अस्पताल बन रहा है

मेयर ने किया डीआरडीओ द्वारा बनाए जा रहे आईडीपीएल में 500 बैड के अस्पताल का निरीक्षण और निर्माण में पूर्ण सहयोग करने की कही बात।

हमारा सुझाव : कोरोना से बचे जान, इसके लिए जांच प्रक्रिया को करो ओर आसान

अभी तो कोरोना की जांच मात्र की जटिल प्रक्रिया में ही बहुत सुधार की जरूरत है और ये सुधार राज्य सरकारी अस्पतालों में ही नहीं

सावधान : कोरोना ने लील ली ढाई साल के मासूम की जान

इसलिए इस कोरोना को हल्के में मत लो, कम से कम अपने मासूम बच्चों के लिए अच्छे मास्क और सोशल डिस्टेंस का पालन करो और

नींबू की चार बूंद देगी कोरोना कफ से राहत

इस विषय पर आयुर्वेदाचार्य डॉ जेपी राठी से भी की चर्चा। आजकल सोशल मीडिया में कोरोना के कारण नाक बंद, झुखाम व खांसी से पीड़ित

जन जागरूकता : कोरोना टीका लगवाने के भी अलग अलग हैं नियम

एम्स की वैक्सीन हेड प्रोफेसर वर्तिका सक्सेना से हुई विशेष बातचीत। कोवि शील्ड की दूसरी डोज 6 से 8 हफ्ते में मतलब 42 से 56

मोदीजी! कोरोना को हम नहीं, आप हल्के में ले रहे हो

आपका ऋषिकेश एम्स का कोविड ओपीडी उड़ा रहा है कोरोना संक्रमण के नियमों की धज्जियां। कोरोना के आंकड़े बड़ाने में एम्स ऋषिकेश को आपसे इनाम

कल शाम 7 से 3 मई तक कर्फ्यू

जिलाधिकारी देहरादून के आदेशानुसार मतलब परसों से 3 मई तक शाम 4 बजे तक सिर्फ मूलभूत सुविधाओं की दुकानें ही खुलेंगी और जरूरी आवागमन को

1 2 3 5