मंदिर है पर पुजारी नहीं

मंदिर है पर पुजारी नहीं

भरदार पट्टी की जानी मानी मठियाणा देवी के मंदिर में हजारों भक्त काफी श्रद्धा से जाते हैं और पुजारी न होने की वजह से खुद ही पूजा करने को मजबूर हैं।
जैसे हम किसी भी मंदिर में जाएँ तो हमें वहां पूजा करने के लिए पुजारी मंदिर में ही उपस्थित मिलते हैं चाहे वो हरिद्वार की माँ मंसा देवी हो, चंडी देवी हो या श्रीनगर की धारी देवी। हर मंदिर में पूजा करने के लिए पुजारी जरूर मिलेगा लेकिन जनपद रुद्रप्रयाग के भरदार पट्टी में जानी मानी सिद्ध पीठ माँ मठियाणा देवी का मंदिर है पर यहां आपको पुजारी नहीं मिलेगा।
यहां नवरात्रों से लेकर पर्व त्योहारों में काफी भक्त माता के दर्शन को पहुंचते हैं। अक्सर यहां नव दम्पत्ति अपने सुखद वैवाहिक जीवन के लिए माँ से आशीर्वाद लेने आते हैं।
नवरात्र और गर्मियों की छुट्टियों में मंदिर में अक्सर भीड़ देखी जा सकती है, लेकिन मंदिर में कोई पुजारी न होने की वजह से सभी भक्तों को खुद ही पूजा करनी पड़ती है।
इस सम्बंध में मंदिर में उपस्थित कुछ बुजुर्गों का ये भी कहना था कि यदि मंदिर में पुजारी रख लेंगे तो मंदिर में चढ़ाया हुआ सबकुछ पुजारी रख लेगा और मंदिर के हिस्से कुछ नहीं आ पायेगा।

%d bloggers like this: