मेयर ने प्रथम सेनाध्यक्ष को दी ऐसी ‘श्रद्धांजलि’

मेयर ने प्रथम सेनाध्यक्ष को दी ऐसी ‘श्रद्धांजलि’

उत्तराखंड के गौरव हिम पुत्र जनरल विपिन रावत के नाम पर गढ़वाल के मुख्य द्वार ऋषिकेश में बनेगा भव्य स्मृति द्वार।
जब हरिद्वार में सेनाध्यक्ष की अस्थियों का विसर्जन हो रहा था उस समय ऋषिकेश नगर निगम की मेयर अपने पार्षदों और निगम अधिकारियों के साथ मिलकर उनकी स्मृति को भव्यता देने का प्रयास कर रही थी। जिस क्रम में प्रथम सेनाध्यक्ष के नाम पर स्मृति द्वार बनाए जाने की मेयर ने घोषणा की है। इसके लिए मेयर ने शनिवार की सुबह विभिन्न पार्षदों एवं अधिकारियों के साथ मौका मुआयना किया।
देशभर में जहां एक और देश के सर्वोच्च सैन्य अधिकारी सीडीएस बिपिन रावत की हैलीकॉप्टर दुघर्टना में अकास्मिक निधन के बाद श्रद्धांजलि देने का दौर जारी है वहीं दूसरी ओर ऋषिकेश नगर निगम मेयर, पार्षदों एवं अधिकारियों ने जनरल रावत की शोर्य गाथा को अमिट बनाने के लिए नगर निगम सीमा के प्रारंभिक स्थल ऋषिकेश -हरिद्वार मार्ग पर उनके नाम से भव्य स्मृति द्वार बनाए जाने का निर्णय लिया है। बिना समय गवाएं मेयर ने इसके लिए कवायद भी शुरू कर दी है।
इस सम्बंध में मेयर ने बताया कि तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलीकॉप्टर में सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और सशस्त्र बल के अन्य अधिकारियों के निधन से देश शौकाकुल है। उत्तराखंड को अपने इस सपूत पर हमेशा गर्व रहेगा। देश के लिए बलिदान देने वाले हमेशा के लिए अमर हो जाते हैं लेकिन आने वाली पीढियां उन्हें याद रख सकें, यह हम सबका दायित्व है। देश की सुरक्षा में उन्होंने महान योगदान दिया है। देश की सीमाओं की सुरक्षा एवं देश की रक्षा के लिए उनके द्वारा लिए गए साहसिक निर्णयों एवं सैन्य बलों के मनोबल को सदैव ऊंचा बनाये रखने के लिए उनके द्वारा दिये गये योगदान को देश सदैव याद रखेगा।
इस दौरान सहायक नगर आयुक्त एलम दास, सहायक अभियंता आनंद मिश्रवान, पार्षद विजय बडोनी, लक्ष्मी रावत, राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, विपिन पंत, विजेंद्र मोगा, जयेश राणा, गुरविंदर सिंह, अनिता प्रधान, राजेश भट्ट, पंकज शर्मा, अशोक पासवान, सुनील उनियाल, मदन कोठारी, अनिकेत गुप्ता, विकास सेमवाल, हरीश रतूड़ी, राजेश नोटियाल, परीक्षित मेहरा, गौरव कैंथोला, शीलू अग्रवाल आदि शामिल रहे।

%d bloggers like this: