ये मारी पलटी : विरोध के बाद समर्थन में आए पार्षद

ये मारी पलटी : विरोध के बाद समर्थन में आए पार्षद

इनमें से एक पार्षद का इतिहास तो चौकाने वाला रहा है, जिसने पिछले बोर्ड में चार साल तक पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष दीप शर्मा का विरोध किया था, लेकिन जैसे ही 2017 में राज्य में कांग्रेस की सरकार गई और भाजपा की आई, ये महोदय कूद कर दीप शर्मा और स्थानीय भाजपा विधायक प्रेम चंद अग्रवाल की गोदी में बैठ गए।
आजकल राजनीति का स्तर इतना गिर गया है कि कौन कब पलट जाए कह नहीं सकते। एक तरफ कुछ दिन पूर्व नगर निगम की बोर्ड बैठक में कुछ भाजपाई पार्षदों ने अपनी ही मेयर अनीता ममगाईं के नगर को ऑरेंज सिटी मतलब भगवा करने के प्रस्ताव का सदन में विरोध कर दिया, विरोध भी ऐसा कि हल्ला मचाते हुए सदन से बाहर आकर मेयर की तानाशाही नहीं चलेगी का नारा बुलंद कर दिया। इसके साथ ही एक नेता के जिंदाबाद के नारे तक भी लगा दिए।
यही नहीं इस विषय पर प्रेस वार्ता भी कर दी और आज यही महा सम्मानित पार्षद भगवा के समर्थन में प्रेस विज्ञप्ति जारी कर रहे हैं।
आदरणीय जनता जनार्दन ये सम्मानित कहीं भी मिले तो आप भी इनसे जरूर पूछना कि आखिर तुम्हारी ट्रेनिंग होती कहाँ है?

%d bloggers like this: